HOW TO SECURE YOUR SMARTPHONE FROM VIRUS OR MALWARE APNE PHONE KO VIRUS SE KAISE BACHAYE - TECKUM - WHERE TECH BECOMES TECKUM

Latest

Friday, 25 May 2018

HOW TO SECURE YOUR SMARTPHONE FROM VIRUS OR MALWARE APNE PHONE KO VIRUS SE KAISE BACHAYE

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रवि कुमार है और आज के इस आर्टिकल के द्वारा मैं आपको बताने जा रहा हूं कि आप कैसे अपने एंड्रॉयड मोबाइल को वायरस से सिक्योर कर सकते हैं तो बहुत से ANDROID मोबाइल्स में देखा जाता है कि आपके ANDROID मोबाइल में वायरस आ जाता है तो ऐसे में आपके ANDROID मोबाइल की परफॉर्मेंस बहुत बेकार हो जाती है तो अगर आप भी अपने एंड्रॉयड मोबाइल को वायरस से सिक्योर करना चाहते हैं तो इस पूरे आर्टिकल को पढ़ें क्योंकि इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहा हूं कि कैसे आप अपने एंड्रॉयड मोबाइल को वायरस से सिक्योर कर सकते हैं वायरस कैसे आपके मोबाइल में आता है और कैसे आसानी से  सिक्योर कर सकते हैं अपने मोबाइल को अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि वह भी अपने मोबाइल को सिक्योर कर पाए वायरस से तो बिना किसी देरी के चलिए शुरू करते हैं



      कैसे आता है ANDROID मोबाइल में वायरस


तो दोस्तों आपके ANDROID मोबाइल में वायरस आने के बहुत से कारण हो सकते हैं तो आज मैं आपको साधारण तरीके बताने वाला हूं जिसकी वजह से आपके मोबाइल में वायरस आता है और आपका मोबाइल वायरस से इंफेक्टेड होता है

1 APP PERMISSION


तो दोस्तों आप कभी भी जब नया एप्लीकेशन अपने फोन में इंस्टॉल करते हैं तो एप्लीकेशन आपसे कुछ परमिशन मांगता है जिसको बिना पढ़े हम अलाउ कर देते हैं जैसे कि कैमरा की परमिशन कोंटेक्ट लॉक्स को पढ़ने की परमिशन या स्टोरेज की परमिशन तो ऐसे में एप्लीकेशन के पास परमिशन आ जाती है जो कि हम ही उन्हें देते हैं तो ऐसे में वह परमिशन आपके स्टोरेज में वायरस को इंस्टॉल कर सकता है और आसानी से आपके फोन को अपडेट कर सकता है आपके फोन के परफॉर्मेंस को अट्रैक्ट कर सकता है तो कभी भी किसी भी एप्लीकेशन को परमिशन देने से पहले यह जरूर जांच लें कि एप्लीकेशन से क्यों है उसे सबसे पहले सिक्योर होने पर ही उसे सारी परमिशन दें

तो अगर आपको लगता है कि आपने किसी ऐसे एप्लीकेशन को परमिशन अलाउ कर दी है जोकि ट्रस्टेड नहीं है तो आप उसे आसानी से बंद कर सकते हैं या उस परमिशन को हटा सकते हैं उसको करने के लिए आपको शिल्पी अपने फोन की सेटिंग में जाना है

इसके बाद आपको एप्लीकेशन मैनेजर में जाना है यहां पर आने के बाद आपको उस एप्लीकेशन को चुनना है जिसकी परमिशन को आप हटाना चाहते हैं या जो एप्लीकेशन को आप परमिशन नहीं देना चाहते तो ऐसे में आप उस ऐप को सेलेक्ट कर लीजिए और उसके बाद परमिशन को टाइप करने के बाद आप उन परमिशन को  हटा दीजिए जिसको आप नहीं देना चाहते

2  APP INSTALL



तो दोस्तों अक्सर हम GOOGLE PLAY STORE के अलावा भी बहुत से ऐसे थर्ड पार्टी वेबसाइट से या थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से ऐसे एप्लीकेशंस को डाउनलोड करते हैं जो कि ट्रस्टेड नहीं होते हैं जिनमें वायरस होने का खतरा होता है पर फिर भी हम उन एप्लीकेशन को डाउनलोड करके अपने फोन में इंस्टॉल करते हैं क्योंकि वह एप्लीकेशन GOOGLE PLAY STORE पर बैन होते हैं तो ऐसे में हमें समझना चाहिए कि वह GOOGLE STORE पर बैन क्यों होते हैं क्योंकि GOOGLE ऑन एप्लीकेशंस को बैन कर देता है जिनमें वायरस होते हैं या जो एप्लीकेशन आपकी प्राइवेसी को आपके डेटा को चुरा सकते हैं तो ऐसे में आप उन एप्लीकेशन का यह बिल्कुल यूज ना करें जो कि GOOGLE PLAY STORE से बैन है क्योंकि कहीं ना कहीं ऐसे एप्लीकेशन भी आपके फोन में वायरस को इंस्टॉल कर सकते हैं और आपके फोन को खराब कर सकते हैं

3  ROOTING YOUR MOBILE



तो बहुत से लोग अपने एंड्रॉयड मोबाइल को रूट कर देते हैं ताकि वह अपने ऑपरेटिंग सिस्टम को बदल सके स्टॉक रोम इनस्टॉल कर सके या कोई और रोम इनस्टॉल कर सके बट उन्हें यह नहीं पता होता कि फोन को रूट करने से भी आपके फोन में वायरस आ सकते और आपका फोन वायरस से इफेक्टेड हो सकता है
 तो जब तक बहुत ज्यादा जरूरी ना हो अपने फोन को रूट ना करें क्योंकि रूट करने से आपके फोन की सिक्योरिटी पूरी तरह से खत्म हो जाती है ऐसे में कोई भी वायरस आपके फोन में इंस्टॉल हो सकता है और आप के फोन को खराब कर सकता है

4 SUSPICIOUS LINK


तो बहुत बार हमें अपने WHATSAPP पर या मैसेज के द्वारा बहुत से ऐसे लिंक आपको मिल जाते हैं जिनमें दिखाया जाता है कि आप बहुत सारे पैसे जी सकते हैं या एप्लीकेशन इंस्टॉल करने पर आपको घड़ी मिलेगी या फोन मिलेगा तो कभी भी ऐसे लिंक पर क्लिक ना करें क्योंकि ऐसे लिंक आपको ऐसी वेबसाइट पर ले जाते हैं जहां से हैकर आपके सारे डेटा को प्राइवेसी को आसानी से ब्रेक कर के आप के फोन के डाटा को चुरा सकते हैं उसमें आपके बैंक अकाउंट से भी अगर लिंक है आपका फोन तो वहां से आपके बैंक अकाउंट के पैसों पर भी खतरा हो सकता है तो ऐसे में मेरा कहना यही है कि आप किसी भी सस्पिशियस लिंक पर क्लिक ना करें जब तक कि वह पूरी तरह से वेरिफाइड ना हो

तो आज के लिए बस इतना ही आशा करता हूं कि अब आप पूरी तरह समझ गए होंगे कि फोन में वायरस कैसे आता है और कैसे अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन को वायरस से सिक्योर कर सकते हैं और कैसे अपने फोन को वायरस से मुक्त कर सकते हैं तो आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पता चल सके और वह भी अपने फोन से वायरस को हटा सकें और अपने फोन को वायरस से बचा सकेवायरस से मुक्त कर सकते हैं तो आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पता चल सके और वह भी अपने फोन से वायरस को हटा सकें और अपने फोन को वायरस से बचा सके

2 comments: